23.7k Members 50k Posts
Coming Soon: साहित्यपीडिया काव्य प्रतियोगिता

दीपावली की शुभ कामनाएं

बना कर देह का दीपक,

जलाओ स्नेह की बाती,

मिटे मन का अँधेरा भी,

प्रकाशित हो धरा सारी |

दिवाली रोज मन जाये,

विनय है ईश से मेरी,

प्रभुल्लित आप रह पायें,

यही शुभ कामना मन की |

1 Like · 2 Views
Dr. Harimohan Gupt
Dr. Harimohan Gupt
213 Posts · 1.8k Views
डॉ. हरिमोहन गुप्त को मैंने निकट से देखा है l 81 वर्ष की आयु में...
You may also like: