दिल से खेलना

वक्त नही है आपको हमारे लिए ।
हम तो करना कुछ चाह रहे तुम्हारे लिए ।
उदास क्यो हो, खामोश क्यो हो ?
नाराज क्यों हो, करते ऐतराज क्यों हो ।
ये समा, ये जमां अर्पण सब कुछ आपको ।
तुम समझते क्यों नही मेरे दिल के हालात को ।
ये जो चांदनी है बिखरी आपकी खिदमत के लिए ।
एक बार करीब भी तो आओ न हमारे लिए ।
नही -नही मे ही तेरी हां जैसे है छिपी हुई ।
गुलाब के फूल सी है तू खिली हुई ।
कभी दूर करती हो, कभी पास रखती हो ।
क्या हम खाली -भरे नोट के बटुए है ।
जो तुम मतलब से अपने पास रखती हो ।
हम तो ऐसे है दूसरा ताज भी पवा देंगे तुम्हारे लिए ।
प्यार एक दीपक दिल मे जला दो बस आप हमारे लिए ।
कहती भी बहुत खूब हो ।
जी नही सकते हम तुम्हारे बगैर सनम ।
पांच दिनो से मिल नही रही ।
ऐसे लगता है कि हम है उजङे चमन ।
ये मोहब्बत का मजाक मत करो ।
प्यार करना है तो दिल से करो ।
घूमती हो उनके साथ रूठती हो मुझसे ।
हाथ गर एक बार पकड़ लिया ।
जिंदगी भर नही छोङते है हम ।
मजाक मत किया करो हमसे ।
क्योकि मै मजाक को भी प्यार समझ बैठता हूँ ।
ठीक है जाओ कभी किसी के दिल से फिर।
ऐसा खिलवाङ मत करना ।

😂😂Rj Anand Prajapati 😅😅

Like Comment 0
Views 4

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share