23.7k Members 50k Posts

दिल वार आया हूँ

कोई बस्ती बदल आया , कोई मकान बदल आया …
उसने एक बार क्या माँगा मैं दिल वार आया .,
मुझे इन अल्लाह और भगवान में मत बाटो ..
मैंने इन्सान का दर्द देखा ..मैं इन्सान बन आया ….

चंद्र प्रकाश बहुगुना / पंकज / माणिक्य

5 Views
Chandra Prakash
Chandra Prakash
23 Posts · 750 Views
You may also like: