23.7k Members 50k Posts
Coming Soon: साहित्यपीडिया काव्य प्रतियोगिता

दिल लगी

देखा जब से उन्हें,खुद को भुला बैठा ॥

बेहद की वफा फिर भी प्यार गंवा बैठा,

इतना चाहने पर भी जब वो दूर चले गए,

तब सोचा कि किससे मैं दिल लगा बैठा ,

देखा जब से उन्हें,खुद को भुला बैठा ॥

?प्रमोद रघुवंशी?

10 Views
Pramod Raghuwanshi
Pramod Raghuwanshi
Hoshangabad
13 Posts · 432 Views
You may also like: