31.5k Members 51.8k Posts

दिल चाहता है...

वो हमसे ऐसे रूठ जाना,
फिर प्यार से हमको मनाना।
लिख कर गजले सारी रात,
हाल-ए-दिल हमको सुनाना।
हाल-ए-दिल सुन कर तेरा,
हाल दिल का सुनाने को जी चाहता है।
आज सब कुछ लुटाने को जी चाहता है।।

3 Likes · 2 Comments · 412 Views
पूजा खरे *लापरवाह*
पूजा खरे *लापरवाह*
Bhopal
10 Posts · 2.1k Views
College student श्रंगार रस की कवियित्री महिलाओं तथा लडकियों के अधिकार तथा उनकी दुविधाओं पर...
You may also like: