23.7k Members 50k Posts

दिल के अहसास

दिल की गहराई
**************
आज फिर से तेरी याद
दिल तक जा पहुँची
एक कसक उठी और
बड़ी गहराई से पहुँची

तड़प क्या होती है
कोई पूछो हम से
जब पास आ के भी
वो दूर ही बैठे थे

भरी महफ़िल में
वो व्यस्त ,उलझे उलझे
एक तक मेरी नजर
उन को तकती

कोशिश कर लेती
खुद में ही समा लू
एक पल भी ,
नजरे न गिराऊ

जो नही अपना
दिल अपना मानता है
करता हैं बगावत खुद से
मेरी ना एक मानता है

उतार दु कश्ती प्यार की
बीच समन्दर,खो जाऊँ
एक लहर बन,मिल जाऊँ
उस की जान बन जाऊँ

******************
✍सन्ध्या चतुर्वेदी
मथुरा यूपी

333 Views
Sandhya Chaturvedi(काव्यसंध्या)
Sandhya Chaturvedi(काव्यसंध्या)
मथुरा उप
53 Posts · 3.5k Views
नाम -संध्या चतुर्वेदी शिक्षा -बी ए (साहित्यक हिंदी,सामान्य अंग्रेजी,मनोविज्ञान,सामाजिक विज्ञान ) निवासी -मथुरा यूपी लेखन...
You may also like: