दवा से जो नही होते

*दवा से जो नहीँ होते*
1222 1222 1222 1222
दवा से जो नहीँ होते दुआ से काम होते हैं!
जहाँ में आज भी ऐसे करिश्मे आम होते हैं!!
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
गलत राहों से जीवन में हमेशा दूर तुम रहना!
बुरे हर काम के देखो बुरे अंजाम होते हैं!!
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
निराला सा चलन देखा जहाँ में आज लोगों का!
बगल में है छुरी रखतें जुबां पे राम होते हैं!!
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
दिलों में इस ज़माने के पनपती साज़िशें हरदम!
बशर की जान के तो बस ज़रा से दाम होते हैं!!
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
समझते हैं कहाँ ज़ालिम हमारे दर्द को अब भी!
जो’हँस-हँस कर वो’ पीते हैं लहू के जाम होते हैं!!
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
कहाँ मिलती है अहले-दिल को भी मंज़िल मुहब्बत की!
बशर तो प्यार की खातिर सदा बदनाम होते हैं!!
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
बड़ी शातिर है ये दुनिया नहीँ काबिल भरोसे के!
यहाँ किस्से फरेबों के तो’सुब्हो -शाम होते हैं!!
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
रखो किरदार की दौलत हमेशा ही ज़माने में!
समय के साथ जो चलते उन्हीं के नाम होते हैं!! :::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
मुसाफ़िर इस गज़ल में भी पते की बात को कहता!
इबादत जो नहीँ करते सदा नाकाम होते हैं!!
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
धर्मेन्द्र अरोड़ा’मुसाफ़िर’

क्या आप अपनी पुस्तक प्रकाशित करवाना चाहते हैं?

साहित्यपीडिया पब्लिशिंग द्वारा अपनी पुस्तक प्रकाशित करवायें सिर्फ ₹ 11,800/- रुपये में, जिसमें शामिल है-

  • 50 लेखक प्रतियाँ
  • बेहतरीन कवर डिज़ाइन
  • उच्च गुणवत्ता की प्रिंटिंग
  • Amazon, Flipkart पर पुस्तक की पूरे भारत में असीमित उपलब्धता
  • कम मूल्य पर लेखक प्रतियाँ मंगवाने की lifetime सुविधा
  • रॉयल्टी का मासिक भुगतान

अधिक जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें- https://publish.sahityapedia.com/pricing

या हमें इस नंबर पर काल या Whatsapp करें- 9618066119

Like Comment 0
Views 21

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share