Jan 20, 2018
कविता · Reading time: 1 minute

तेरे बाद

शामे उदास रहने लगी
तेरे चले जाने के बाद
आंखों मे आंसू रहने लगे
मुद्दतों गुजर जाने के बाद ।

दिन गुजरने लगे तेरी यादों मे
मयखाने मे दो पेग लगाने के बाद
नींद रात आने लगी
रोज सुबह हो जाने के बाद ।

खामोशियां गीत गुनगुनाने लगी
महफिल खत्म हो जाने के बाद
गुजरे लम्हो की आहट दस्तक देने लगी
तन्हाईयां हो जाने के बाद ।

दिल की उम्मीदें बर्फ होने लगी
हर ख्वाब टूट जाने के बाद
कीमत तेरे प्यार की पता लगी
आज तेरे रूठ जाने के बाद ।।

राज विग 20.01.18.

2 Likes · 2 Comments · 188 Views
Like
133 Posts · 12.6k Views
You may also like:
Loading...