.
Skip to content

तेरे आने से

अविनाश डेहरिया

अविनाश डेहरिया

कविता

May 14, 2017

तुम जबसे मेरे जीवन मे आयी हो
जीवन मेरा एक अनजाने से रस से भर गया है
तुम जो आयी हो तो एक कमी सी पूरी हुई है
आने से तुम्हारे एक दोस्त एक साथी मिल गया है
हर एक खुशी मिल गई है सिर्फ एक तेरे आने से।।

Author
अविनाश डेहरिया
छिन्दवाड़ा जिले के डेनियलसन डिग्री कॉलेज से बी.सी.ए की डिग्री प्राप्त उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग मध्य प्रदेश भोपाल में पिछले 8 सालों से कार्यरत व बैतुल जिले के घोड़ाडोंगरी विकासखंड में प्रभारी वरिष्ठ उद्यान विकास अधिकारी के पद पर... Read more
Recommended Posts
"हे बाँकेबिहारी" तुझसे मिलने आयी हूँ । "हे मुरारि" मुरली की धुन सुनने आयी हूँ । * गोकुल, वृंदावन में तेरी लीला है अंकित उस... Read more
कान्हा
कान्हा कहाँ है गुल ? फिर सुदामा से मिल । जीवन संग्राम , अर्जुन सा लड़ूँगा , फिर सारथी बन के मिल। करुंगा मन की... Read more
यह मौसम की हलकी हलकी फुहार
यह मौसम की हलकी हलकी फुहार होले होले ले आयी मुझे तेरे द्वार मन में उठ पड़ी फिर से चहक उठी नई कलिओं के खिलने... Read more
हे रेलगाड़ी, कब तक तू .....
मिलती थी रोज मुझको आज अभी तक नहीं आयी इन्तेजार में मेरे नैना तरसे अब क्या करें हम भाई !!! में हमेशां तेरा इन्तेजार करता... Read more