Skip to content

तेरा साथ

Raj Vig

Raj Vig

कविता

February 5, 2017

तू पास रहे या दूर रहे
दिल मे बस तू वास करे
जन्म जन्म तुझे पाने की
दिल मे अमिट प्यास रहे ।

फूलो और बहारों को
संग तेरे पर नाज रहे
आती जाती सांसो मे
तेरे बदन की महक रहे ।

चन्दा को हर रोज
तेरे दीदार की आस रहे
सूरज की किरणो को भी
छूने की तुझे अभिलाष रहे ।

काली कज़रारी आंखों मे
छलकता तेरा प्यार रहे
उतार चढ़ाव के जीवन मे
हाथ मेरा तेरे हाथ रहे ।

चाह नही इस दुनिया की
हरदम अगर तू मीत रहे
मलाल नही कुछ खोने का
प्रीत अगर तेरी अमर रहे ।।

राज विग

Share this:
Author
Raj Vig
Recommended for you