Skip to content

…तू है जुनून-सा…

राहुल रायकवार जज़्बाती

राहुल रायकवार जज़्बाती

गीत

March 16, 2017

इन आँखों को…
कैसे बंद करूँ…
जब तू है मेरे सामने…
.
इस दिल में…
इक शोर है…
जैसे कह रहा हो
हर दिन तू हो मेरे सामने…
.
जब तू इतने करीब था. ..
उस दिन का
लम्हा वो हसीन था…
.
मेरे साथ तेरा…
यूँ चलना…
जैसे चाँद
चाँदनी बिखेरता..
.
तुझ बिन हूँ…
मैं अधूरा-सा…
कैसे कहूँ…
तू है जुनून-सा…
मेरा सुकून-सा…
#जज़्बाती…
#rahul_rhs

Author
राहुल रायकवार जज़्बाती
उफ़...मीठी_चाय... कागज की नाव... अल्फाज मेरे....कलम तेरी... बस साधारण-सा कलमकार... #जज़्बाती....
Recommended Posts
तन्हा दिल है मेरा
बेबसी हैं बेकसी हैं तन्हा दिल हैं मेरा, रब्बा मेरे रब्बा मेरे मेरे महबूब से तू मिला दे, टुटा हुआ ए दिल मेरा, घायल हैं... Read more
समा गयी है तू मेरे भीतर
समा गयी है तू मेरे भीतर जिस तरह नदी का पानी समा जाता है समुन्द्र के अंदर समा गयी है तू इस कदर मेरे अंदर... Read more
दरख़्त
गज़ल 【दिल से ")】 " लाज़मी सा एक तू " फ़ासला सी रही जिंदगी कभी अपनों के दरम्यां कभी दरख्तों के नीचे फिर लाज़मी सा... Read more
अर्चना मेरी है तू
21-06-2016 सांसों में बसी है तू ज़िन्दगी बनी है तू तुझसे कैसे हूँ जुदा दिल की आशिकी है तू चाहें सब कहे गलत मैं कहूँ... Read more