.
Skip to content

तू ले ले बाँहों में अपने तो मैं जल जाऊंगा

आनंद बिहारी

आनंद बिहारी

गज़ल/गीतिका

December 10, 2016

तू ले ले बाँहों में अपने, तो मैं जल जाऊंगा
बना हूँ मोम से मैं, फिर तो पिघल जाऊंगा।1।

तुम मेरे जागी आँखों के सपन में आते हो
तुम्हें ही दिल, दिमाग, सांसों में बसाउंगा।2।

तूने कानों में धीरे से, फुसफुसा जो दिया
राग बनके मैं तो गीत – ग़ज़ल गाऊंगा।3।

मेरे होठों पे अगर… होठ रख दिए तुमने
क़सम से, अपने आपे से निकल जाऊंगा।4।

हाथों में हाथ गर, जो दे दिया तूने अपना
किया जो वादा, जन्मों तलक निभाउंगा।5।

©आनंद बिहारी (Whatsapp: 9878115857)
https://facebook.com/anandbiharilive

Author
आनंद बिहारी
गीत-ग़ज़लकार by Passion नाम: आनंद कुमार तिवारी सम्मान: विश्व हिंदी रचनाकार मंच से "काव्यश्री" सम्मान जन्म: 10 जुलाई 1976 को सारण (अब सिवान), बिहार में शिक्षा: B A (Hons), CAIIB (Financial Advising) लेखन विधा: गीत-गज़लें, Creative Writing etc प्रकाशन: रचनाएँ... Read more
Recommended Posts
हौसला
जख्म देती इस ज़िन्दगी को समर्पित कुछ पंक्तिया। मैं तो दरिया हूँ बहता ही चला जाऊंगा, तू जख्म दे मैं सहता ही चला जाऊंगा, तू... Read more
कविता
चाहो उड़ालो हमारी हसीं,हंसता हर पल छोड़ जाऊंगा। सुन मैं तो झोखा हूं हवाओं का साथ उड़ा ले जाऊंगा। मैं तो बहता दरिया हूं ए... Read more
गीत :तेरी-मेरी नहीं दिल की बात....???
तेरी-मेरी नहीं,दिल की बात होगी आज। वो आगे आए,जिसके कलेजे होगी खाज।। तू अभिमान भरा है,मैं भी नहीं हूँ खाली। तू डाल-डाल है तो,मैं पात-पात... Read more
प्रेम-गीत
जी ना सकूँगा तुम बिन मैं यारा, गर तुने मुझको प्यार से पुकारा, मैं तुमसे प्यार करूँगा, ना इंकार करूँगा, हो जाऊँगा मैं तुम्हारा ,... Read more