मुक्तक · Reading time: 1 minute

“तुम”

हाँ यह तय है की मोहब्बत नही थी तुमसे कभी
मगर
ख्वाहिशों में तुम भी शामिल थी कभी।
#सरितासृजना

28 Views
Like
73 Posts · 2.8k Views
You may also like:
Loading...