कविता · Reading time: 1 minute

तुम डर जाते हो

मैं तो कह रही हूं कि
तुम मुझसे मिलने आओ
मैं तुमसे बिल्कुल नहीं डरूंगी
लेकिन एक तुम हो कि
डर जाते हो यह सोच कि
तुम्हें देखकर मैं
अवश्य ही डरूंगी।

मीनल
सुपुत्री श्री प्रमोद कुमार
इंडियन डाईकास्टिंग इंडस्ट्रीज
सासनी गेट, आगरा रोड
अलीगढ़ (उ.प्र.) – 202001

81 Views
Like
Author
You may also like:
Loading...