.
Skip to content

तुम्हारे वास्ते …..

anand murthy

anand murthy

मुक्तक

November 5, 2016

तुम्हारे वास्ते फिर से नयी इक जिन्दगी होगी
तुम्हारी जिन्दगी से जिन्दगी भी जिन्दगी होगी
कितने हसीं होगें वे सफ़े मेरी जिन्दगी के भी
तुम्हारी दिल्लगी से पल्लवित ये जिन्दगी होगी
@आनंद ०४/११/२०१६
*******************************

Author
anand murthy
I AM AN ENGINEER BY PROFESSION WITH A PASSION OF WRITING.I USE TO DO BLOGGING.MY BLOG IS WWW.ANANDKRITI007.BLOGSPOT.COM.http://anandkriti007.blogspot.in/.
Recommended Posts
साथ चलें जिन्दगी
आओ हम तुम साथ चलें ज़िन्दगी, कुछ मैं तुमसे कदम मिलाऊँ , कुछ तुम मेरा साथ निभाओ ज़िन्दगी, मैं तुम्हारी तरफ अपने हाथ बढ़ाऊं, कुछ... Read more
ज़िन्दगी
ज़िन्दगी को न समझ सकी ज़िन्दगी । बस इस तरह कटती रही ज़िन्दगी ।। करती रही वादे बार बार ज़िन्दगी । अनसुलझी सी रही फिर... Read more
उसने किया सवाल...
उसने किया सवाल, गर मैं न रहूँ, ज़िन्दगी में कोई कमी तो न होगी। हमने दिया जवाब, कमी तो न होगी, पर तुम न रहीं... Read more
गजल
मेरी हर शाम खुशनुमा सी होगी जब तेरी पनाहों में ज़िंदगी होगी मेरी पलकों में है उनकी सूरत उनके लिये तो ये बेबकूफी होगी जो... Read more