गज़ल/गीतिका · Reading time: 1 minute

तुझे इतना बताना चाहता हूँ ! ब्यथा दिल की सुनाना…

तुझे इतना बताना चाहता हूँ !
ब्यथा दिल की सुनाना चाहता हूँ !!

तेरी चाहत मुझे है मुद्दतों से ,
तेरे नजदीक आना चाहता हूँ !!

मेरी किस्मत में हो ऐसा भी शायद ,
तुझे दिल से लगाना चाहता हूँ !!

रो रो कर न बीते ये जवानी ,
खुशी के पल विताना चाहता हूँ !!

रूठ कर देख लो हमसे ऐ जानम ,

तुम्हें फिर से मानना चाहता हूँ !!

सनम तुझसे बयाँ करके मुहब्बत ,
स्वयं को आजमाना चाहता हूँ !!

मेरा है नाम जुगनू इसलिए मैं
प्रभा के गीत गाना चाहता हूँ !!

09200573071 8871887126

1 Comment · 85 Views
Like
51 Posts · 7.9k Views
You may also like:
Loading...