ताना क्यों मारना

ताने तनातनी देते,
रोज सनातनी देते।
मन की हालात बताते,
शब्द बड़े चुभ जाते।
जिससे न बने बना लो दूरी,
किस बात की है मजबूरी।
जो सच्चे मे अपने है,
उनसे न शिकायत जपने हैं ।

4 Likes · 1 Comment · 12 Views
विन्ध्यप्रकाश मिश्र विप्र काव्य में रुचि होने के कारण मैं कविताएँ लिखता हूँ । मै...
You may also like: