Nov 26, 2017 · दोहे
Reading time: 1 minute

तब होगा उपचार

राजनीति से हो परे,….नेता करें विचार !
सही अर्थ मे देश का,तब होगा उपचार! !

करे प्रदूषण पर अमल,सही शीघ्र सरकार!
दूषित नीर समीर का, तब होगा उपचार! !

चोला देना पाप का ,.मन से प्रथम उतार!
मुमकिन नश्वर देह का,तब होगा उपचार! !

उपजे मन मे पाप जब,वहीं उसे दो मार!
उग्रवाद की मूल का , तब होगा उपचार !!
रमेश शर्मा

1 Like · 34 Views
Copy link to share
RAMESH SHARMA
509 Posts · 44.7k Views
Follow 22 Followers
दोहे की दो पंक्तियाँ, करती प्रखर प्रहार ! फीकी जिसके सामने, तलवारों की धार! !... View full profile
You may also like: