.
Skip to content

“टाईमपास “(मुक्तक)

ramprasad lilhare

ramprasad lilhare

मुक्तक

March 17, 2017

“टाईमपास ”
(मुक्तक ”
एक लड़के ने एक लड़की से कहा
मैं प्यार करता हूँ तुमसे बेइंतहा
तुम जो चाहती हो मुझमें वो बात हैं
मेरा प्यार दिखावा नहीं सच और उदात्त हैं
पुरे करूँगा मैं तुम्हारे ख्वाब सारे
तुम्हारे लिए तोड़ लाउँ आसमां से तारे
तुम जो कहोगी मैं वो सब करूंगा
तुम कहोगी तो जीवूँगा तुम कहो तो मरूँगा
लड़की ने उत्तर देते हुए कहा
तेरे जैसे कई मजनुओं को मैने सहा
तु लगता मुझे बहुत नटी है
तेरे सारे वादे दिखावटी है
मै जो चाहती हूँ तुझमे वो बात नहीं
तेरा प्यार दिखावा हैं सच और उदात्त नहीं
मै जानती हूँ तेरा प्यार बकवास है
केवल और केवल “टाईमपास “हैं।

रामप्रसाद लिल्हारे
“मीना “

Author
ramprasad lilhare
रामप्रसाद लिल्हारे "मीना "चिखला तहसील किरनापुर जिला बालाघाट म.प्र। हास्य व्यंग्य कवि पसंदीदा छंद -दोहा, कुण्डलियाँ सभी प्रकार की कविता, शेर, हास्य व्यंग्य लिखना पसंद वर्तमान में शास उच्च माध्यमिक विद्यालय माटे किरनापुर में शिक्षक के पद पर कार्यरत। शिक्षा... Read more
Recommended Posts
मैं और तुम
मैं और तुम मैं प्यासा सागर तट का मैं दर्पण हूँ तेरी छाया का मैं ज्वाला हूँ तड़पन का मैं राही हूँ प्यार मे भटका... Read more
तुम गर साथ होती............
Sahib Khan गीत Dec 10, 2016
वो तन्हाई के लम्हे, वो बेखुदी की राते, यु न गुजरती, तुम गर साथ होती.......... हम तुमको बहो में रखते, तुम्हारे प्यार को’ आँखों के... Read more
मेरी सुबह हो तुम, मेरी शाम हो तुम! हर ग़ज़ल की मेरे, नई राग़ हो तुम! मेरी आँखों मे तुम, मेरी बातों मे तुम! बसी... Read more
बिना मेरे अधूरी तुम..
मेरा हर सुर अधूरा हैं, अधूरी गीत की हर धुन, स्वप्न वो तुम नहीं जिसमे, कभी सकता नहीं मैं बुन कोई रिश्ता नहीं तुमसे, मगर... Read more