Reading time: 1 minute

झूठ देख इंकार न कर

झूठ देख इंकार न कर…

झूठ देख इंकार न कर
बेमतलब टकरार न कर…

हो संवेदनशील नहीं
उत्तम वह सरकार न कर…

लूट रहे है जो जन को
उनपे और विचार न कर…

गर ढोंगी खद्दरधारी
उनका कभी प्रचार न कर…

जिनका ऊंचा सिंहासन
घर उनके दरबार न कर…

करता जो विश्वास अटल
कभी पीठ पर वार न कर…

भले बने दुश्मन दुनियां
मित्र कभी मक्कार न कर…

यदि चद्दर छोटा तन का
फिर लम्बा आकार न कर…

दुश्मन होता है दुश्मन
उसको तू प्यार न कर….

डाॅ. राजेन्द्र सिंह ‘राही’
(बस्ती उ. प्र.)

7 Views
Copy link to share
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
41 Posts · 390 Views
Follow 1 Follower
नाम- डाॅ. राजेन्द्र सिंह 'राही' पिता- स्व. रामबृक्ष सिंह। माता-स्व. सुशीला सिंह पता- ग्राम व... View full profile
You may also like: