जो नारी का अपमान करेगा जग क्यों उसका सम्मान करेगा

जो नारी का अपमान करेगा
जग क्यों उसका सम्मान करेगा
जिस नारी ने जन्म दिया
हे मूर्ख तू कैसे जन्म देने वाली
माँ का अपमान करेगा
नर्क होगा नसीब तुझे
अगर तू ना माँ का सम्मान करेगा
तेरे कर्मों का फल तुझे ऊपर वाला
दान करेगा।
बददुआ देगी तुझे ये दुनिया
बदचलन, बद अंजाम तेरा होगा
अपनी हवस की प्यास बुझाने को
तू उस छाती पर वार करेगा
कल तक भूख मिटाती थी वो छाती तेरा
जिस पर तू अपनी हवस का वार करेगा।
नही बुझेगी हवस की प्यास ये तेरी
मानवता का नाम बदनाम करेगा
पाकीज़ा है वो धर्म की देवी
जिसको तू दाग दार करेगा
नासाफ़ है तेरा इरादा
नासमझ सा व्यवहार करेगा
इंसान होकर भी तू
हैवानियत की हद पार करेगा।
शर्म आएगी शैतानों को भी
जब तू शैतान बनेगा ।
जन्म देने वाली माँ का तू
इज़्ज़त से खिलवाड़ करेगा।

भूपेंद्र रावत
26।09।2017

1 Like · 389 Views
M.a, B.ed शौकीन- लिखना, पढ़ना हर्फ़ों से खेलने की आदत हो गयी है पन्नो को...
You may also like: