23.7k Members 50k Posts
Coming Soon: साहित्यपीडिया काव्य प्रतियोगिता

जोड़ना

जोड़ना ही जोड़ना हमको घटाना ही नहीं।
दुश्मन अपने तो कभी कही बनाना ही नहीं ।
घूमूँगा फिरूँगा भाषा सबकी समझूँगा मैं ।
पर उम्मीद किसी से ज्यादा लगाना ही नहीं।।

***** आलोक मित्तल ‘उदित’ *****
******* रायपुर *******

7 Views
Alok Mittal
Alok Mittal
8 Posts · 77 Views
जो दिल करता है वही लिखता हूँ ... कान्हा की नगरी मथुरा, उत्तर प्रदेश में...
You may also like: