.
Skip to content

जीवन भी तू

कृष्णकांत गुर्जर

कृष्णकांत गुर्जर

गज़ल/गीतिका

May 19, 2017

मुझसे खपा न होना कभी तू
जीवन भी तू दुनिया भीै तू

तू ही तो खुशियां देती है
जान मेरी  तू चाहत भी तू

बचपन से तूने दी खुशियाँ
संगी भी तू साथी भी तू

भूल न जाना तू कृष्णा को
आन मेरी तू जान मेरी तू

Author
कृष्णकांत गुर्जर
संप्रति - शिक्षक संचालक G.v.n.school dungriya G.v.n.school Detpone मुकाम-धनोरा487661 तह़- गाडरवारा जिला-नरसिहपुर (म.प्र.) मो.7805060303
Recommended Posts
वस यही कहानी है
तुझमे मे मुझमे तू वस यही कहानी है तू ही तो जान है मेरी तू ही तो जिंदगानी है मै जिससे प्यार करता हूँ तू... Read more
तू ही तो मुझको प्यारा है
मेरी दुनिया मेरी जन्नत तू ही तो जीवन सारा है| मेरी हर आरजू तू ही ,तू ही तो मुझको प्यारा है|| मेरा जीवन मेरी धड़कन... Read more
जिन्दगी है तू ही...................... तू ही प्रीत है |गीत| “मनोज कुमार”
जिन्दगी है तू ही और तू ही मीत है तू साँसें तू धड़कन तू ही गीत है तू आशा मिलन तू ही संगीत है तू... Read more
]]]]] नारी तू पृथ्वी की धुरी है [[[[[
नारी तू पृथ्वी की धुरी है नारी तू जग की संचालिका है। नारी तू संस्कृति की संवाहिका है। नारी तू सभ्यता की समृद्धिका है। नारी... Read more