जीवन जीते हुए

जीवन जीते हुए
ए दोस्त,
एक काम जरुर करना
जिंदगी को
भरपूर जी लेना
जिसमे आपको
अपनी अभिव्यक्ति
व्यक्त करनी है.
भरपूर जीना
ए दोस्त भरपूर जीना.
दिनेश किशोर गुप्ता

Like 2 Comment 0
Views 1

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing