.
Skip to content

जीवन जनरल डब्बा…..

तेजवीर सिंह

तेजवीर सिंह "तेज"

कुण्डलिया

June 30, 2017

? कुण्डलिया छंद ?
??????????

‘जनरल डब्बा’ है गयौ, जे जीवन सरकार।
भीड़ बनी बीबी सदा, सिर पै मिलै सवार।
सिर पै मिलै सवार, बने हैं बच्चा टीटी।
टपक रहौ है तेल, बजै रग-रग ते सीटी।
एस एम हैं मात, खलासी उनके अब्बा।
‘तेज’ गधे-से दौड़, भये हम जनरल डब्बा।

??????????
? तेज मथुरा✍

Author
तेजवीर सिंह
नाम - तेजवीर सिंह उपनाम - 'तेज' पिता - श्री सुखपाल सिंह माता - श्रीमती शारदा देवी शिक्षा - एम.ए.(द्वय) बी.एड. रूचि - पठन-पाठन एवम् लेखन निवास - 'जाट हाउस' कुसुम सरोवर पो. राधाकुण्ड जिला-मथुरा(उ.प्र.) सम्प्राप्ति - ब्रजभाषा साहित्य लेखन,पत्र-पत्रिकाओं... Read more
Recommended Posts
तेवरी
गुलशन पै बहस नहीं करता मधुवन पै बहस नहीं करता जो भी मरुथल में अब बदला सावन पै बहस नहीं करता | कहते हैं इसे... Read more
? कलियुगी मित्र?
?? *मित्रता दिवस* ?? ?????????? कैसे-कैसे तीर ये, करते चहुँदिश वार। आज मित्रता हो गई,मतलब का व्यापार।। मतलब का व्यापार, सभी हित साधें अपना। नीति... Read more
प्रेम की नाव
प्रेम की नाव पे होके सवार जीवन के समुद्र में चल दिये, किनारे से जब छूटी नाव जीवन के समुद्र में चल दिये, डगमग करती... Read more
रक्तदान
रक्तदान ****** बात बहुत सरल सी जानो। रक्त बिना ना जीवन मानो। रग-रग बहे जब रक्त धारा जीवन तब ही चले हमारा। यूं तो दान... Read more