कविता · Reading time: 1 minute

जीनियस शायर

करने के लिए
तेरे पास
मुहब्बत ही
थी क्या,ऐ दिल!
तेरे लफ़्ज़ों में
हर तरफ़
बगावत ही
थी क्या,ऐ दिल!!
तेरे होने से
ख्वामखाह
परेशान हैं
सभी यहां!
इस दुनिया में
आख़िर तेरी
ज़रूरत ही
थी क्या,ऐ दिल!!
#Geetkar
Shekhar Chandra Mitra
#SelfCritism

16 Views
Like
579 Posts · 7.9k Views
You may also like:
Loading...