· Reading time: 1 minute

जीत।

ना शस्त्र से ना ढाल से,
डरना नहीं है तुझे किसी हाल से।
हिम्मत से जीती जाती है जंग सभी,
ना रुकना तू तूफानों से कभी।

हर कदम रखना उम्मीद से,
सफर जीत जाओगे काबिलियत से।
जो दिन मिला है तुझे अभी,
ना रहेगा कल ऐसा कभी।

धूप में छांव से, बरसात में राग से,
अंधेरे में प्रकाश से, जीना है तुझे शान से।
हर पल में खुशियां मिलेगी तभी,
जब इस पर मुस्कुराएगा तो अभी।

4 Likes · 8 Comments · 293 Views
Like
You may also like:
Loading...