मुक्तक · Reading time: 1 minute

जिस रोज बनी दुर्गा मेरे मुल्क की माँ बहने

जिस रोज मेरे मुल्क का बाशिंदा जाग जायेगा
उस रोज मेरे मुल्क का ,आइन्दा जाग जायेगा
**********************************
बनी जिस दिन भी दुर्गा मेरे मुल्क की माँ बहने
उस रोज मेरे मुल्क से हर दरिंदा भाग जायेगा
***********************************
कपिल कुमार
03 /08/2016

आइन्दा…भविष्य
बाशिंदा….नागरिक

30 Views
Like
154 Posts · 6.1k Views
You may also like:
Loading...