जिओ इस तरह तुम वतन के लिये

सितारे ज्यूँ चमकें गगन के लिये
जिओ इस तरह तुम वतन के लिये

न सम्मान इससे बड़ा और है
तिरंगा मिले जो कफ़न के लिये

मिला पाठ ये बालपन से हमें
झुकाना ये सर बस नमन के लिए

मिलाना गले है सभी धर्म को
हमें देश के ही अमन के लिए

कदम अपने आगे बढ़ाओ सभी
बुरी रीतियों के दमन के लिए

यही प्रार्थना अर्चना हम करें
मिले अपनी मिट्टी दफ़न के लिए
डॉ अर्चना गुप्ता

6 Comments · 63 Views
डॉ अर्चना गुप्ता (Founder,Sahityapedia) "मेरी प्यारी लेखनी, मेरे दिल का साज इसकी मेरे बाद भी,...
You may also like: