जाने क्या-क्या लिखूं

हाले दिल की दास्तां लिखूं
मधुर मिलान की यादें लिखूं
छम-छम बरसता सावन
या केशु की महकती खुशबू
जाने क्या-क्या लिखूं …….

तेरी नखरे-शरारत लिखूं
शोख बलखाती जवानी लिखूं
छुप-छुप देखने की बाते लिखूं
या चाँद सी मुस्कुराहट लिखूं
जाने क्या-क्या लिखूं …….

रंग-बिरंग हंसी सपने लिखूं
तुझे बुलाती रूमानी शाम लिखूं
तेरी कोयल सी मीठी आवाज़ लिखूं
तेरी धानी चुनरी में मेरा नाम लिखूं
जाने क्या-क्या लिखूं …….

मद-भरी गुलाबी रुखसार लिखूं
तेरी नैनो की काली घटा लिखूं
प्रेम मस्ती भरी कोई गीत लिखूं
या बचपन की प्रेम कहानी लिखूं
जाने क्या-क्या लिखूं …….

लड़कपन की मस्ती छेड़खानी लिखूं
या रोमांटिक शायरी-गजल लिखूं
तेरे नाम सारी जिंदगानी लिखूं
ये “दुष्यंत” के प्रेम दीवानी
जाने क्या-क्या लिखू …….

Like Comment 0
Views 165

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share