31.5k Members 51.8k Posts

जाति कि जड़ें

जाति की जड़ें

जाति
जाती ही नहीं
बहुत हैं गहरी
इसकी जड़ें
जिसे नित
सींचा जाता है
उन लोगों द्वारा
जिनकी कुर्सी को
मिलता है स्थायित्व
जाति से
जिनका चलता है व्यवसाय
जाति से
जिन्हें मिला है ऊंचा रुतबा
जाति से
जिन्हें परजीवी बनाया
जाति ने
वे चाहते हैं
उनकी बनी रहे सदैव
जाति आधारित श्रेष्ठता
भले ही इससे
किसी का
कितना ही शोषण
क्यों न हो?

-विनोद सिल्ला©

2 Likes · 124 Views
विनोद सिल्ला
विनोद सिल्ला
Hansi
380 Posts · 3.4k Views
टोहाना, जिला फतेहाबाद हरियाणा
You may also like: