जागो

जिंदगी में
विविध मोड़ है,
सबके लिए
कुछ कर गुजरने की
होड़ है,
जागो
नज़रे राहो पर रख,
मंजिल सवारों
जज्बातों में ही छुपा,
हर मुश्किलों का
तोड़ है|
राजेश व्यास “अनुनय”

Like 1 Comment 0
Views 5

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share