.
Skip to content

जहाँ ले चलोगे वही मे चलूगा

कृष्णकांत गुर्जर

कृष्णकांत गुर्जर

गज़ल/गीतिका

March 2, 2017

जहाँ ले चलोगे वही मे चलूगा|
जहा तुम कहोगे वही मे रहूगा||

तुम्ही मेरी जान तुम्ही मेरी जन्नत हो|
तुम्ही मेरा प्यार तुम्ही मेरी चाहत हो ||

तेरे प्यार मे पागल मरता रहूगा|
जहाँ ले चलोगे वही मे चलूगा||

सुंदर सलोना तेरा प्यारा बदन है|
बागो मे प्यारे जैसे खिलता चमन है||

मिले जख्मो को मे कैसे सहूगा|
जहाँ ले चलोगे वही मे चलूगा ||

कृष्णा ये दुनिया की चाहत बुरी है|
अपनो को अपने ही मारे छुरी है||

तुम जो कहोगे मे वो करूगा|
जहाँ ले चलोगे वही मे चलूगा||

Author
कृष्णकांत गुर्जर
संप्रति - शिक्षक संचालक G.v.n.school dungriya G.v.n.school Detpone मुकाम-धनोरा487661 तह़- गाडरवारा जिला-नरसिहपुर (म.प्र.) मो.7805060303
Recommended Posts
Chhaya Shukla गीत Jul 13, 2016
प्रिय तुम छेड़ो साज वही जो पहली बार सुने थे | राग वही अनुराग वही प्रिय तुम छेड़ो साज वही ..... नजरें मेरी जम जायें... Read more
मुक्तक
जो आती है लबों पर बात तुम वही तो हो! जो तड़पाती है मुलाकात तुम वही तो हो! ठहरी हुई है आग अभी चाहत की... Read more
■ तुम्ही हो जिंदगी मेरी ■
#मुक्तक ■ तुम्ही हो जिंदगी मेरी तुम्ही हो आसमाँ मेरा तुम्ही हो हमसफ़र मेरी तुम्ही हो राजदां मेरा नही अब हम अकेले है तुम्हारा साथ... Read more
[[ निहारूँ तुम को जी भरकर अगर अधिकार हो जाये ]]
निहारूँ तुम को जी भरकर अगर अधिकार हो जाये कसम से देख ले जो भी वही दिलदार हो जाये कँवल से होंठ नाज़ुक हैं कली... Read more