Sep 20, 2016 · दोहे

जवानों को शत शत नमन

हैवानों के देश में ,विष की फलती बेल
भूल तभी अपना खुदा ,खेलें खूनी खेल

करता है जो पाक तू, सदा पीठ पर वार
कपटी तेरी सोच है, नीच बड़ा परिवार

ओढ़ तिरंगा सो रहे ,भारत माँ के वीर
करते शत शत हम नमन भर आँखों में नीर

डॉ अर्चना गुप्ता

1 Like · 455 Views
डॉ अर्चना गुप्ता (Founder,Sahityapedia) "मेरी तो है लेखनी, मेरे दिल का साज इसकी मेरे बाद...
You may also like: