Skip to content

!!-जय माता दी-!!

अजीत कुमार तलवार

अजीत कुमार तलवार "करूणाकर"

कविता

March 28, 2017

माता रानी मेरी जग जननी
तेरा पार न पाया किसी ने
दर दर की ठोकर खा के
आया सवाली तेरे ऊँचे दर ते !!

पापियों के पास धो देती
मेरी माँ दी बाण गंगा
दुखिओं के दुःख निवार देंदी
तेरे भवन दी शान मईया !!

बाँझ वि जे टेक लेंदी
माथा तेरे दर ते आके
झोली उस दि भर देंदी
इक सोहना जेहा लाल देके !!

पैर च पई जांदे ने छाले
पर कदम नहीं डगमगान देंदी
माथा टेक के जदों वापिस मुडदा
खुशियन आपार उस दे घर देंदी !!

कंजका दी लोड सब नू पैदी है
कदी क़त्ल न करना इस देवी नू
दर दर दिया ठोकरा खाओगे
जे विसार दिता कंजक जेहि देवी नू !!

अजीत कुमार तलवार
मेरठ

Author
अजीत कुमार तलवार
शिक्षा : एम्.ए (राजनीति शास्त्र), दवा कंपनी में एकाउंट्स मेनेजर, पूर्वज : अमृतसर से है, और वर्तमान में मेरठ से हूँ, कविता, शायरी, गायन, चित्रकारी की रूचि है , EMAIL : talwarajit3@gmail.com, talwarajeet19620302@gmail.com. Whatsapp and Contact Number ::: 7599235906
Recommended Posts
माँ तेरे दर पर आई हूँ।
जय माँ वैष्णो देवी जय माता दी जय माँ शेरावाली ????? माँ तेरे दर पर आई हूँ हाथ जोड़े मैया , श्रद्धा का पुष्प मैं... Read more
छोड़ दी है………….तेरे ही लिये |गीत| “मनोज कुमार”
छोड़ दी है नौकरी भी तेरे ही लिये लगने लगे चक्कर गली तेरे ही लिये देखा तुझे गाने लगा गीत भी दिल तेरे इस मुखड़े... Read more
!! जय  माता दी बोल तेरा क्या घट जाएगा !!
जय माता दी बोल तेरा क्या घट जाएगा जय माता दी बोल तू दर्शन पा जाएगा जय माता दी बोल कि संकट कट जाएगा जय... Read more
बहुत रोयेंगे माँ
बहुत रोयेंगे माँ हम तुम्हे याद करके, तेरा ही आँचल ढूँढेंगे दुःख में याद करके, जीवन में करेंगे भी क्या माँ तेरे बिन हम, जिन्दगी... Read more