Skip to content

जब से देखा तुमको

Anuj yadav

Anuj yadav

गज़ल/गीतिका

March 28, 2017

जब से देखा तुमको मेरा दिल मचल सा गया है
तेरे चेहरे का नूर मेरी आंखों में उतर सा गया है
तेरे चेहरे की मासूमी मेरे दिल को सताती हैं
ना जाने क्यों बस तेरी याद आती है
तेरा हंसता हुआ चेहरा
चांद की तरह सुनहरा
तेरी हिरनी जैसी चाल
सिर से लेकर पैर तक तू मुझे लगती है बेमिसाल
तेरी नाजुक सी अदाएं जैसे कि सावन की घटाएं
तेरे काले काले बाल सब कुछ मुझे लगते हैं बेमिसाल ै

Share this:
Author
Anuj yadav
I am a student in class 11th writing is my hobby. I live pukhrayan in Up
Recommended for you