छोड़ो ये रोना

कोरोना कोरोना का छोड़ो ये रोना
समर्पित हो रब को उसी को जपोना

हवन कर करो शुद्ध वातावरण को
जपो गायत्री मंत्र चिंता करोना

सकारात्मकता विचारों में रखकर
करो शुद्ध भोजन किसी से डरोना

करोना ने ऐलान-ए-जंग जो किया है
दफ़न कर उसे पीर जग की हरोना

कहानी लिखी जाए स्वर्णिम पटल पर
करो कुछ गजब का यूँ ऐसे लड़ोना

रखेगा सुरक्षित वो ‘माही’ हमारा
इनायत से उसकी आ झोली भरोना

© डॉ० प्रतिभा माही

Voting for this competition is over.
Votes received: 17
6 Likes · 29 Comments · 69 Views
पाँच तत्व से है बना, मेरा सुन्दर रूप । मैं तो हूँ एक आत्मा, बिंदी...
You may also like: