छोटी-छोटी बातों पर तुम

????
छोटी-छोटी बातों पर तुम,
बिगड़ो ना, झगड़ो ना….

छोटी-छोटी बातों को तुम,
पकड़ो ना, अकड़ो ना….

यही है जिन्दगी का फंडा,
यारों मस्त रहो ना……

छोटी-छोटी बातों से तुम,
यूँ दिल को जकड़ो ना…..

-लक्ष्मी सिंह ?☺

Like 1 Comment 0
Views 148

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing