Mar 30, 2020 · दोहे

छंद

मैंने तुम्हें चाहा, मगर बदले में मुझे ना चाहने का, तुम्हारा हक था,
लेकिन दिल टूटने के डर से, दिल लगाना तो नहीं छोड़ सकता।

1 Like · 2 Views
Iam fun loving, Love to read, love nature, like to adventures things.
You may also like: