.
Skip to content

** चेतक मेरे यार **

भूरचन्द जयपाल

भूरचन्द जयपाल

गीत

March 10, 2017

चेतक मेरे यार
सुन तेरे टापों की आवाज
दिल मेरा इक पल डोले
बोले होले होले
तेरे बिन वादी सूनी
तेरे बिन घाटी सूनी
टप टप टप टप सुन
तेरे टापों की आवाज़
जिया दुश्मन डोले
दिल मेरा बोले होले
होले होले
******
तेरा छोड़ूंगा ना साथ
चाहे कुछ भी हो ले
तेरे बिन रणभूमी सूनी
तेरे बिन युद्धभूमी सुनी
तेरे बिन हल्दीघाटी सूनी
तेरे बिन
******
अब मान जा मेरे यार
दुश्मन हो गया
सर पे सवार
करले अब असवार
********
अब उठ जा मेरे यार
उठ करले हवा से बात
तेरे बिन दिल मेरा ऊना
लागे सब सूना सूना
********
तेरे बिन वीरां घाटी
अब मोल मांगे माटी
अब करले पार घाटी
सुन ले मेरी पुकार
**************
चेतक मेरे साथी
हम जैसे दिवा-बाती
हां चेतक मेरे साथी
हां चेतक मेरे साथी।।
?मधुप बैरागी

Author
भूरचन्द जयपाल
मैं भूरचन्द जयपाल स्वैच्छिक सेवानिवृत - प्रधानाचार्य राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, कानासर जिला -बीकानेर (राजस्थान) अपने उपनाम - मधुप बैरागी के नाम से विभिन्न विधाओं में स्वरुचि अनुसार लेखन करता हूं, जैसे - गीत,कविता ,ग़ज़ल,मुक्तक ,भजन,आलेख,स्वच्छन्द या छंदमुक्त रचना आदि... Read more
Recommended Posts
तुम्हारे बिन जीना है //गीत
तुम्हारे बिन जीना है पल-पल मुश्किल बस तुम्हीं पे फीदा है मेरा दिल तस्वीर बन बसी हो निगाहों में तुम वो जानाँ मेरे हर साँसो... Read more
??मुझे मार गए जानम ये तेरे बहाने??
दिल को तड़फाते हैं,ये तेरे बहाने। मुझे मार गए जानम,ये तेरे बहाने।। मैंने कहा तुमसे,घर मेरे आ जाना। ना-ना करने लगे पर,ये तेरे बहाने।। मैंने... Read more
अब हर जगह तू ही तू नज़र आता है
अब हर जगह तू ही तू नज़र आता है तेरे बिन सपना भी अधूरा रह जाता है नही होती सुबह तेरे बिन ओ मेरी जाना... Read more
तुम बिन कब तक रहूँ अधूरी
जब से गये हो तुम मेरे सजना याद नहीं दिन रात महीना दिन सूना है, रात है सूनी दिल की हर एक बात है सूनी... Read more