.
Skip to content

चुनाव आयौ है …….

Pawan Paagal

Pawan Paagal

गीत

March 5, 2017

मचे जो खूब हल्ला
निकल आएें दल्ला
समझ लीजै लल्ला
चुनाव आयौ रे…..

बैठे यूँ हिंदू मुल्ला
खाऐंगे रस गुल्ला
बाबाजी का ठुल्ला
चुनाव आयौ रे….

उड़ी है खूब खिल्ली
यादौंजी ड़ोलै दिल्ली,
अकड़ पड़ी ढिल्ली
चुनाव आयौ रे….

ड़ोलै हैं राहुल भय्या
खतम सब रुपय्या
फ़टी है जेब दय्या
चुनाव आयौ रे….

बहन जी बनी बिल्ली
हाथों में ड़ंड़ा गिल्ली
पहिये की टूटी तिल्ली
चुनाव आयौ रे….

मैले थे जिनके पल्लू
खाली है उनके डल्लू
सब समझे भूरा कल्लू
चुनाव आयौ रे…….

21-1-2017
शनिवार

Author
Pawan Paagal
Recommended Posts
महीना आयौ सावन कौ
लोकगीत ------------- * महीना आयौ सावन कौ * ********************** झूला आँगन में डरवाय दै भरतार, महीना आयौ सावन कौ । - आसमान में घिरी बदरिया... Read more
फिर आयी गति में स्वयं,,आरक्षण की नाव! निश्चित भारत वर्ष मे..फिर आ गये चुनाव!! बिरयानी बँटने लगी,बँटने लगा पुलाव ! शायद मेरे देश में, फिर... Read more
सर्दी के दिन आए रे .
सर्दी आई रे ..... गर्मी बीत गई रे भइया .. सर्दी के दिन आए रे .. सूटकेस में बैठे स्वेटर .. ज़ोर -ज़ोर चिल्लाए रे... Read more
ब्रजभाषा में घनाक्षरी छंद
????? * श्री कृष्ण जन्म * **************** ब्रज वसुधा के कन नित जन-जन मन , फूलन में पातन में गूँजै नाम श्याम रे । मोहन... Read more