चाॅक्लेट

मै लाई बाजार से, इक चाॅक्लेट बार।
स्वाद भरा इतना अधिक , जैसे माँ का प्यार।। १

चाॅक्लेट डे से हमें, बहुत अधिक है प्यार।
क्योंकि मिले इस दिन हमें, चाॅक्लेट उपहार।। २

पापा आना जल्द से, मत कर देना लेट।
चाॅक्लेट डे आज है, बच्चे करते वेट।।३

पापा आना जल्द से, मत कर देना देर।
लाना बच्चों के लिए, चाॅक्लेट का बेर।। ४

चाॅक्लेट हरदम किया,सबके दिल पर राज।
इसको खाने से नहीं, आता कोई बाज।। ५

चाॅक्लेट दुख दूर कर, दिल में भरे मिठास।
चाॅक्लेट डे है तभी, सबसे ज्यादा खास।। ६

जब दिल में दुख दर्द हो,आये उलझन पास।
तब बन जाता है खुशी, चाॅक्लेट इक ग्लास।। ७

चाॅक्लेट ही तो बना, इक ऐसा सौगात।
बिना कहे जो बोल दे, दिल की सारी बात।। ८

चाॅक्लेट की चिकित्सा, सुगंध से भरपूर।
नित दिन थोड़ा- सा लिये, रखे रोग से दूर।। ९

चॅाक्लेट बच्चों मगर, सोच समझ कर खोल।
इसे अधिक खाया अगर, सड़़ा दाँत अनमोल।। १ ०

चाॅक्लेट का नित दिवस, हो थोड़ा उपयोग।
करे तभी यह फायदा, तन को रखे निरोग।।१ १

चाॅक्लेट खाना अगर, इतना रखना याद।
करना ब्रश तुम याद से, खा लेने के बाद।। १ २

मैं डैरी तू मिल्क है, मैं किट हूँ तू कैट।
चाॅक्लेट ज्यादा लिया, बढ जायेगा फैट।।१ ३

चाक्लेट इस शब्द का, बहुत बड़ा है तथ्य।
खट्टा या कड़वा कहे, यही अर्थ है सत्य।। १ ४
-लक्ष्मी सिंह

क्या आप अपनी पुस्तक प्रकाशित करवाना चाहते हैं?

साहित्यपीडिया पब्लिशिंग द्वारा अपनी पुस्तक प्रकाशित करवायें सिर्फ ₹ 11,800/- रुपये में, जिसमें शामिल है-

  • 50 लेखक प्रतियाँ
  • बेहतरीन कवर डिज़ाइन
  • उच्च गुणवत्ता की प्रिंटिंग
  • Amazon, Flipkart पर पुस्तक की पूरे भारत में असीमित उपलब्धता
  • कम मूल्य पर लेखक प्रतियाँ मंगवाने की lifetime सुविधा
  • रॉयल्टी का मासिक भुगतान

अधिक जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें- https://publish.sahityapedia.com/pricing

या हमें इस नंबर पर काल या Whatsapp करें- 9618066119

Like 1 Comment 0
Views 13

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share