May 27, 2017 · शेर
Reading time: 1 minute

चापलूसी

चापलूसी में चापलूसों को कर दिया कुछ ने फेल।
सत्ता प्राप्ति को फर्जी कर रहे नित्य नए खेल।।
खूब सिंह ‘विकल’
27 मई 2017

259 Views
Copy link to share
Khoob Singh 'Vikal'
12 Posts · 579 Views
मेरी बातों से आप का सहमत होना जरुरी नहीं, आप ने मेरी बातों को पढ़ा... View full profile
You may also like: