.
Skip to content

चाँद का अब हो गया दीदार है /ईद

Dr Archana Gupta

Dr Archana Gupta

गज़ल/गीतिका

July 7, 2016

चाँद का अब हो गया दीदार है
ईद की खुशियों से दिल गुलज़ार है

दे रहें देखो मुबारकबाद सब
ईद का भी सज रहा बाज़ार है

माह पूरा हो गया रमजान का
डूब खुशियों में रहा संसार है

बन रहे पकवान घर घर में नए
सेवईं से हो रहा सत्कार है

भूल कर सब भेद मिलते हैं गले
ईद का मतलब मुहब्बत प्यार है

बच्चों की भी मुस्कुराहट देखिये
‘अर्चना’ ईदी मिली उपहार है

डॉ अर्चना गुप्ता

Author
Dr Archana Gupta
Co-Founder and President, Sahityapedia.com जन्मतिथि- 15 जून शिक्षा- एम एस सी (भौतिक शास्त्र), एम एड (गोल्ड मेडलिस्ट), पी एचडी संप्रति- प्रकाशित कृतियाँ- साझा संकलन गीतिकालोक, अधूरा मुक्तक(काव्य संकलन), विहग प्रीति के (साझा मुक्तक संग्रह), काव्योदय (ग़ज़ल संग्रह)प्रथम एवं द्वितीय प्रमुख... Read more
Recommended Posts
?ईद मुबारक ?
? आप सभी को ईद की ,बहुत मुबारकबाद रहे ज़िन्दगी आपकी, खुशियों से आबाद ? सेवइयों का ले रहे ,मीठा मीठा स्वाद और ईद की... Read more
चलो मनाएँ ईद हम
चलो मनाएँ ईद हम,सबको लेकर साथ! भुला पुरानी दुश्मनी, ले हाथों मे हाथ! ! सीमा खुशियों की सभी,गई तुरत वो फाँद! आया जैसे ही नजर,.....उसे... Read more
ईद का चाँद …….
ईद का चाँद ……. चाँद दिखे न दिखे इस बार तुम जरूर आ जाना, क्योकि तुम ही हो मेरे ईद का चाँद …………………..! ! तुम... Read more
कीमत-ऐ-इंतज़ार
कीमत-ऐ-इंतज़ार उन महबूब से पूछो कीमत ऐ इंतज़ार जो साल भर सब्र रखते है ईद के आने का चाँद के बहाने करते है यार-ऐ-दीदार दस्तूर-ऐ... Read more