गुरु की महिमा

गुरु सेवा अति महान,
ज्ञान देते सारा जीवन,
भटको को दिखाते राह,
नही उनकी कोई चाह,
जहाँ पड़े गुरु की रज,
बन जाये वो भूमि ब्रज,
सारा जीवन परहित में बिताया,
अपना सर्वस्व न्योछावर किया,
गुरु भगवान से हैं ऊपर,
ज्ञान दाता थोड़ी कृपा कर,
हमको भी आशीष मिले,
आपके चरणों में जगह मिले,
।।।जेपीएल।।।

338 Views
J P LOVEWANSHI, MA(HISTORY) ,MA (HINDI) & MSC (MATHS) , MA (POLITICAL SCIENCE) "कविता लिखना...
You may also like: