गुमनाम जिन्दगी

गुमनाम
जिन्दगी
जीने का भी
मजा
अलग ही है
न दुआ
न सलाम
अपने में
मस्त
बंद दरवाजा
न साकल
न कुंडी

Like 1 Comment 0
Views 3

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share