गीत

बSलिया के बिजूली
*****************
(भोजपुरी गीत)

आवS तनी सूति लींजा
सजनी थकान बा

सSऊसे सरेहिया में
एकही बा ढेला
नींनि नाहीं आवतारी
मन बा अकेला
देहिया में दSम नइखे
डरल परान बा

मनवा ना अSकुSतावS
तोप तनी टँगरी
खेतवा से अईले का
कह काका अँकरी
एकSही महीना बाद
ददरी नहान बा

टSपS-टSपS टपकेला
बरखा के पानी
देखS कुछू भीग ताटे
सखSरी चुहानी
नSरिया ना थSपुआ बा
टुटही पलान बा

भोरवे के गइल बाड़ी
अब ले ना अइली
मोरँगS कमाये गइली
बेकहSल भइली
बSलिया के बिजूली के
कवन ठेकान बा

शिवानन्द सिंह ‘सहयोगी’
मेरठ

Like Comment 0
Views 2

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing