.
Skip to content

गीत

Radhey shyam Pritam

Radhey shyam Pritam

गीत

February 5, 2017

आ दो चार कर लें हम,प्यार की बातें।
कुछ तेरी कुछ मेरी,कुछ संसार की बातें।।

जब जुदा होंगे,न जाने हम कहाँ होंगे।
अपने सुख-दु:ख फिर,कैसे बयां होंगे?
कैसे कटेंगे दिन,और कैसे कटेंगी रातें?
आ दो चार……………..।

सुबह होती है,फिर ये शाम ढ़लती है।
ये ज़िन्दगी तो बर्फ़ ज्यों पिंघलती है।
होके खुशी में चूर,करें खुमार की बातें।
आ दो चार……………..।

धरती प्यासी हो तो,बादल बरसता है।
ऐसे तुमसे मिलने को दिल तरसता है।
पल-पल करता है तेरे दीदार की बातें।
आ दो चार……………..।

कौन अपना-पराया,कभी न सोचें हम।
दु:ख में एक-दूसरे के आँसू पोछें हम।
मिलजुल रहें हमेशा,न हों तक़रार की बातें।
आ दो चार ……………..।

राधेश्याम “प्रीतम”कृत
“”””””””””””””

Author
Recommended Posts
अश्क बनकर निकल गया कैसे
~~~~~~ ग़ज़ल ~~~~~~~ यूँ मुकद्दर बदल गया कैसे / हाथ से वो निकल गया कैसे // मेरी आँखों में बस गया फिर क्यूँ / अश्क... Read more
आइना खुद को दिखाना आ गया
आइना खुद को दिखाना आ गया राब्ता सच से निभाना आ गया जब से हम करने लगे हैं शायरी दर्द की महफ़िल सजाना आ गया... Read more
बातें !सभी कर लेते हैं
छंद मुक्त रचना 000 बातें सभी कर लेते हैं बातों का असर सिर्फ तब होता है जब तदनुसार कर्म भी दिखते हैं. बातें याद नहीं... Read more
एकता के गीत गायेंं, हो परस्पर प्यार इतना( गीत)पोस्ट २९
Jitendra Anand गीत Oct 16, 2016
एकता के गीत गायें **************** हम रचाने आ गये संसार फिर स्वप्निल धरा पर हो परस्पर प्यार इतना एकता के गीत गायें ।। सत्यता हो... Read more