.
Skip to content

गीत : प्यारभरा…..??

Radhey shyam Pritam

Radhey shyam Pritam

गीत

July 13, 2017

तुम जो मुस्क़राते हो,बड़े अच्छे लगते हो।
दिलरुबा दिलके तुम,बड़े सच्चे लगते हो।।

तेरी तस्वीर मैंने तो,दिल में बसा ली है।
आँखों में प्यार की,मैंने काजल डाली है।
अब न कहना सनम,अजी!पीछे लगते हो।
दिलरुबा दिलके……………..।

होठों पर नाम तेरा ही,अब आने लगा है।
नग़मों मिलन के दिल,मेरा सजाने लगा है।
आँखों से ख़ुशी के तुम,आँसू बन बहते हो।
दिलरुबा दिलके………………।

हाथों पर नाम तेरा मैं,लिख चूम लेता हूँ।
आँखों में सपने तेरे,सजाकर झूम लेता हूँ।
रोमांच जगता दिल में,जब सामने आते हो।
दिलरुबा दिलके………………।

ये दिल अब तो सनम,घर तेरी यादों का।
समझ मनसूबा अब तो,तू मेरे इरादों का।
जग की हर शै नीरस मुझे तुम ही भाते हो।
दिलरुबा दिलके……………….।
…….राधेयश्याम बंगालिया”प्रीतम”
…….????????

Author
Recommended Posts
ए ज़िंदगी बड़ी अजीब हो तुम
ए ज़िंदगी बड़ी अजीब हो तुम अमीर तो कहीं ग़रीब हो तुम कोई नाम दो अब रिश्ते को न यार मिरे ना रक़ीब हो तुम... Read more
तेरा साथ छूटा
तेरा साथ छूटा,सम्हलने में वक्त लगा, अब फिर उसी मौसम,उसी प्रेम की तमन्ना मुझे, एक दिन,एक पल,एक घड़ी,तुम जो भी मंजूर करो, बस चन्द लम्हे... Read more
मैं मिलन गीत लिख-लिख के गाता रहा...
?विधा - गीत ? विषय - मिलन ? ?लय - स्वतन्त्र? ?????????? अक्स दिल में बसा और लुभाता रहा। एक तूफान सा आता - जाता... Read more
भारत माँ की शान हो तुम... ...बेटियां.....
CM Sharma कविता Jan 16, 2017
बेटी आँगन का फूल हो तुम... जीवन स्वर में संगीत हो तुम... मेरी आँखों में ज्योति हो तुम... साँसों में प्राण मेरे हो तुम... तुम... Read more