Jun 5, 2019 · गीत
Reading time: 1 minute

गीत …..आओ पेड़ लगाएं भाई

*आज का …गीत*
🌴🌳🌲🎋
🙏🏻 *आओ पेड़ लगाए भाई*😤🌳🌲🦚🦜🐇🐉🌵🍀☘🌿🌴🌳🌲🎄
आओ पेड़ लगाए भाई
जीवन को महकायें भाई
कितना दम सा घुटता है
थोड़ा सा मुस्कायें भाई ……..आओ पेड़ लगाए भाई

चारों तरफ फैला प्रदूषण
मिलकर इसे हटाए भाई
बदबू चारों तरफ है फैली
फूलों से महक आए भाई …….. आओ पेड़ लगाए भाई

धूल धुआं हर तरफ है फैला
कुछ हरियाली लाए भाई
कितनी चिड़िया बेघर हो गई
थोड़ा हाथ बटाओ भाई……….. आओ पेड़ लगाए भाई

कितना नीचे पहुंचा पानी
आओ इसे बचाए भाई
मानसून रूठे हैं हमसे
पेड़ लगा मनाओ भाई ……….. आओ पेड़ लगाए भाई

यह जीवन के सच्चे रक्षक
डालो कैद में जो है भक्षक
कड़ी धूप में ठंडी छाया
खत्म ना ये हो जाए भाई …….. आओ पेड़ लगाए भाई

हरियाली सबके मन भाती
कोयल कितना मीठा गाती
सावन के हिंडोले देखो
बिना पेड़ के कुछ ना भाई ……… आओ पेड़ लगाए भाई

ये मजहब ना जाति देखें
सबको एक निगाह से देखें
फिर हम सब मिलकर क्यों ना
संख्या इनकी बढ़ाए भाई …… आओ पेड़ लगाए भाई

बिना पेड़ के कहां है जीवन
यह सब को समझाओ भाई
“सागर” तुमसे करे गुजारिश
आओ पेड़ बचाए भाई …….. आओ पेड़ लगाए भाई!!
@@@@@@@@@
पर्यावरण दिवस पर ताजातरीन रचना। आप सभी को पर्यावरण दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
अपने जन्मदिन पर मैंने ये गीत लिखा है
*आपका गीतकार …..डॉ नरेश “सागर”*
9897907490

153 Views
Copy link to share
Naresh Sagar
120 Posts · 13.1k Views
Follow 14 Followers
Hello! i am naresh sagar. I am an international writer.I am write my poetry in... View full profile
You may also like: